गोमती चक्र के फायदे

0
8515

गोमती चक्र एक ऐसा नाम है जो अधिकतम हिन्दू परिवारों में प्रसिद्ध है। यह हिन्दू शास्त्रों द्वारा बताए गए कई शास्त्रीय उपायों में उपयोग होने के लिए इस्तेमाल किया जाता है। लेकिन अगर आप अभी भी इस वस्तु से अपरिचित हैं, तो चलिए आपको गोमती चक्र से संबंधित कुछ जानकारी और उपाय बताते हैं।

 

मां लक्ष्मी के उपाय

गोमती चक्र का सबसे अधिक उपयोग मां लक्ष्मी को प्रसन्न करने के लिए किया जाता है। ऐसी मान्यता है कि ये गोल-गोल चक्राकार गोमती चक्र मां लक्ष्मी का ही रूप हैं और यदि इनके उपयोग से कोई शास्त्रीय उपाय, किसी खास दिन किया जाए, तो मां लक्ष्मी प्रसन्न होकर कृपा दृष्टि बरसाती हैं।

 

माँ लक्ष्मी को प्रसन्न करने के लिए…

आपको बता दें कि अन्य सभी वस्तुओं की तुलना में गोमती चक्र एक ऐसी वस्तु है जो काफी कम कीमत में उपलब्ध है। यह आसानी से हासिल हो जाती है, लेकिन इसके प्रयोग से मिलने वाले फल इसकी कीमत से कई गुना अधिक माने गए हैं।

 

जाने कैसे करें प्रयोग

अब हम आपको गोमती चक्र के प्रयोग से होने वाले कुल 5 शास्त्रीय उपाय बताने जा रहे हैं, यदि इन्हें बताई गई विधि के अनुसार और पूरे लगन से किया जाए तो आपको अमीर बनने से कोई नहीं रोक सकता।

 

पहला उपाय

गोमती चक्र के प्रयोग से आर्थिक हानि से बचा जा सकता है। इसके लिए किसी भी महीने के प्रथम सोमवार को 11 अभिमंत्रित गोमती चक्रों का हल्दी से तिलक करें और शंकर जी का ध्यान कर पीले कपड़े में बांधकर पूरे घर में घुमाकर किसी बहते हुए जल में प्रवाहित करें। इसे करने से कुछ समय पश्चात ही लाभ मिलेगा।

दूसरा उपाय

आर्थिक नुकसान के अलावा अगर कड़ी मेहनत के बाद भी बिजनेस मंदा चल रहा है, कोई नया मुनाफा नहीं मिल रहा है तो इसमें सुधार लाने के लिए भी गोमती चक्र का एक उपाय शास्त्रीय ग्रंथों में दर्ज है।

अभिमंत्रित गोमती चक्र

इस उपाय के अनुसार 11 अभिमंत्रित गोमती चक्र और तीन छोटे नारियल को पूजा करने के बाद पीले वस्त्र में बांधकर मुख्यद्वार पर लटका दें। इसके बाद आपके व्यवसाय को कभी किसी की नजर नहीं लगेगी और नए अवसरों के द्वार भी खुल जाएंगे।

तीसरा उपाय

धन लाभ के अलावा अन्य कई कारणों से गोमती चक्र का प्रयोग किया जा सकता है, जैसे कि किसी को नजर दोष से बचाने के लिए। यदि किसी व्यक्ति या बच्चे को बार-बार नजर लग जाती है, तो वह किसी निर्जन स्थान पर जाकर 3 गोमती चक्रों को अपने ऊपर से 7 बार उतार कर अपने पीछे फेंक दें।

करें ये उपाय

ध्यान रहे कि गोमती चक्रों को फेंकते ही भूल से भी पीछे मुड़कर न देखें, आंखें केवल सामने ही रखें। ऐसा करने के तुरंत बाद सीधी दिशा में घर की ओर निकल जाएं। यह उपाय जल्द से जल्द नजर दोष को दूर कर दोबारा ऐसा दोष ना हो इसमें सहायक सिद्ध होता है।

चौथा उपाय

अगर आपका बच्चा बहुत डरता है, छोटी-छोटी बातों से घबराता है तो ऐसे में आप गोमती चक्र के प्रयोग से उपाय करें, जरूर आराम मिलेगा। इसके लिए किसी भी माह के प्रथम मंगलवार को अभिमंत्रित गोमती चक्र पर हनुमान जी के दाएं कन्धे का सिन्दूर लेकर तिलक कर किसी लाल कपड़े में बांधकर बच्चे के गले में पहना दें। बच्चे का डरना कम हो जाएगा।

पांचवा उपाय

कई बार लोग यह शिकायत करते हैं कि उनकी आमदनी अच्छी है, विभिन्न स्रोतों से वे आय कमाने में सक्षम हो रहे हैं लेकिन फिर भी धन उनके पास अधिक समय तक बचता नहीं है। धन का आगमन जितनी तेजी से होता है, उतनी ही गति से वह खर्च भी हो जाता है, तो ऐसे में क्या किया जाए?

धन के लिए उपाय

इसका समाधान गोमती चक्र के एक उपाय में है। जिसके अनुसार किसी ही माह के प्रथम शुक्रवार को 11 अभिमंत्रित गोमती चक्रों को पीले कपड़े पर रखकर मां लक्ष्मी का स्मरण कर विधिवत पूजन करे . दूसरे दिन उनमें से 4 गोमती चक्र उठाकर घर के चारों कोनों में एक-एक दबा दें। इसके बाद और 3 गोमती चक्र को लाल वस्त्र में बांधकर धन रखने के स्थान पर जैसे कि तिजोरी या जहां भी कमाया हुआ पैसा सबसे पहले लाकर रखा जाता है, ऐसे स्थल पर रख दें।
अब शेष बचें एक चक्र को किसी मन्दिर में अपनी समस्या निवेदन के साथ भगवान को अर्पित कर दें। यह प्रयोग करने से ना केवल आर्थिक लाभ होगा, बल्कि साथ ही घर में अलक्ष्मी का वास नहीं होगा, जिसके कारण धन जल्दी नष्ट हो जाता है।

क्या होता है गोमती चक्र ??

 

भारत की प्रसिद्ध नदियों में से एक नदी है जिसका नाम है गोमती। गोमती चक्र जो की सीप के जैसा एक पत्थर होता है वो इसी नदी में पाया जाता है || गोमती चक्र एक तरफ से पत्थर जैसा होता है और एक तरफ से समतल होता है ||

इस समतल के ऊपर एक सांप जैसा आकार बना होता है इसीलिए गोमती चक्र को नाग चक्र भी कहा जाता है || वेदों शास्त्रों में गोमती चक्र के बहुत से उपयोग बताये गए है और इसको कैसे इस्तेमाल करना है उसका विवरण भी वेदो में स्पष्ट बताया गया है ||

 

|| नीचे गोमती चक्र की इस्तेमाल की पूरी विधि दी हुई है कृपा इसे इस्तेमाल करने से पहले ध्यान से पढ़ ले अन्यथा गोमती चक्र से आपको मन मुताबिक़ सफलता नहीं मिलेगी ||

 

गोमती चक्र की महिमा यहाँ से पता चलती है की पुराने समय से ही गोमती चक्र का इस्तेमाल पूजा, साधना, तांत्रिक प्रयोगों और कई तरह के टोटके करने में किया जाता रहा है || गोमती चक्र को सुदर्शन चक्र भी कहा जाता है जो की श्री कृष्ण का एक बहुत शक्तिशाली हथियार है और गोमती चक्र बिलकुल वैसा ही दिखाई देता है ||

गोमती चक्र को इस्तेमाल करने से आप कई तरह की परेशानियों और कठिनाईओं से बच सकते है और इसके इस्तेमाल से आप अपनी कुंडली में बने हुए कई तरह के दोषों से भी छुटकारा पा सकते है || पुराने समय में लोग गोमती चक्र को गहनों की तरह भी इस्तेमाल करते थे जिससे एक तो वो नकारात्मक शक्तियों के प्रभाव से बचे रहते थे और भाग्यशाली बनते थे ||

 

गोमती चक्र इस्तेमाल करने के लिए आवश्यक जानकारी : –

 

अगर आप किसी भी काम के लिए गोमती चक्र इस्तेमाल करना चाहते है तो यह ध्यान रखें की गोमती चक्र जीवित भी होते हैं  और निर्जीव भी मगर आपको सिर्फ और सिर्फ जीवित गोमती चक्र का ही इस्तेमाल करना है

कैसे पता लगाएं की गोमती चक्र जीवित है या निर्जीव ?

जीवित गोमती चक्र को पहचानने के लिए दो तरीके है पहला ये की जब आप जीवित गोमती चक्र के ऊपर थोड़ा सा सिरका डालेंगे तो उस में से छोटे छोटे बुलबुले पैदा होंगे और दूसरा आप गोमती चक्रो को जोड़ो में रख दें उनको ऐसे रखना है की वो आपस में टच न करें फिर उनके ऊपर थोड़ा थोड़ा सिरका डाल दें और सुबह होने पर जो जीवित गोमती चक्र होंगे वो आपस में जुड़ जायेंगे और जो निर्जीव होंगे वो अकेले रहेंगे ||

गोमती चक्र के उपयोग

1. जब भी कोई नयी ईमारत बनाई जाती है चाहे वो रहने के लिए या फिर व्यवसाय के लिए तो ईमारत बनाते समय एक गोमती चक्र को उसकी नींव में दबा दिया जाता है || ऐसा करने से उस ईमारत में रहने वाले सभी लोगों का भाग्य उदय होता है और ईमारत को भी कोई नुकसान नहीं पहुंचता ||

 

2. गोमती चक्र को लाल कपडे में बांधकर चावलों में या गेंहू में रख दिया जाता है ऐसा करने से घर में कभी अनाज की कमी नहीं होती और घर में खुशियां आती है ||

 

3. दीवाली के दिन माँ लक्ष्मी जी के पूजन के साथ गोमती चक्र रखा जाता है ऐसा करने से हमेशा माँ लक्ष्मी जी की कृपा बानी रहती है और धन प्राप्ति होती है ||

4. अगर किसी की कोख बांध दी गयी हो और उसको बच्चा न हो रहा हो या फिर बार बार गर्भ गिर जाता हो तो कपडे में लपेट कर गोमती चक्र उस महिला की कमर पर बांध दें ऐसा करने से बहुत जल्द बच्चा हो जायेगा ||

5. अगर किसी इंसान की कुंडली में सर्प दोष बनता है और वो सर्प दोष से मुक्ति प्राप्त करना चाहता है तो वो इंसान गोमती चक्र को अभिमंत्रित करके अपने गले में पहनने से काल सर्प दोष और सर्प दोष से मुक्ति पा सकता है ||

6. गोमती चक्र को अपने घर के अंदर दबाने से सभी तरह के वास्तु दोष दूर होते हैं ||

7. अपने शत्रु से पीछा छुड़वाने के लिए एक गोमती चक्र पर उसका नाम लिखकर गोमती चक्र को जमीं में गाड़ दें ऐसा करने से आपका शत्रु परास्त हो जायेगा ||

 

8. घर में अगर लड़ाई झगड़ा रहता है तो गोमती चक्र को एक सिन्दूर की डब्बी में रखकर डब्बी को घर के अंदर रख लें ऐसा करने से घर में शांति और खुशियां बरक़रार रहती हैं ||

9. जिस इंसान की शादी में बाधा आ रही है या फिर शादी नहीं हो रही वो गोमती चक्र को श्री कृष्ण जी की मूर्ति के साथ रखकर सात दिन लगातार पूजा करे तो बहुत जल्दी शादी हो जाएगी ||

10. अगर आपकी नौकरी नहीं लग रही या फिर उन्नति नहीं हो रही तो दो गोमती चक्र अपनी जेब में रखकर इंटरव्यू दें तो आपकी नौकरी लग जाएगी या फिर अपनी जेब में रखकर कार्यस्थल जाएं तो बहुत जल्दी उन्नति हो जाएगी ||

 

कैसे गोमती चक्र को अभिमंत्रित करते हैं ??

अभिमंत्रित गोमती चक्र को घर में रखने से बरकत रहती है और घर में खुशियां आती है

घर में गोमती चक्र रखने से घर में परिवार के लोगों में प्यार बढ़ता और कभी लड़ाई झगड़ा नहीं होता

अपने कार्यस्थल पर अभिमंत्रित गोमती चक्र रखने से व्यपार में कभी घाटा नहीं होता और अधिक मुनाफा होता है

 

गोमती चक्र को अभिमंत्रित करने का तरीका : –

 

1. सबसे पहले जीवित गोमती चक्र को गाये के कच्चे दूध से स्नान करवाएं ||
2. फिर उसको एक थाली में रख दे ||
3. थाली में थोड़े से चावल डाल दें ||
4. फिर गोमती चक्र पर फूल चढ़ाएं ||
5. उसके साथ एक आटे का दिया जलाएं.
6. अब नीचे दिए गए मन्त्र को 108 जाप करें.
|| मंत्र ||

 

” क्लीं क्रीं हुं क्रों स्फ्रों कामकलाकाली स्फ्रों क्रों क्लीं स्वाहा “
7. फिर गोमती चक्र पर चन्दन से अभिषेक करें.
8. यह क्रिया लगातार सात दिन तक करें.
9. सातवें दिन गोमती चक्र को लाल कपडे में लपेट लें.
10. अब इसे आप चाहे घर के पूजा स्थल में रखें और चाहे अपने कार्यस्थल पर रखें.

क्या और कहाँ मिलता है गोमती चक्र :

यह सस्ता चक्रनुमा सफ़ेद पत्थर होता है जो गोमती नदी में पाया जाता है | इस नदी के नाम के कारण ही इसे गोमती चक्र कहते है | माना जाता है की यह माँ लक्ष्मी का ही एक रूप है | पूजा आराधना और तांत्रिक कार्यो में इसका उपयोग किया जाता है |  कहते है इससे अनेको असाध्य रोगों से निजात पाया जाता है |

अब जाने गोमती चक्र से क्या क्या टोटके और कार्य साध्य कर सकते है |

धन लाभ के लिए गोमती चक्र का उपयोग :

धन लाभ के लिए 11 गोमती चक्र अपने घर के मंदिर मे लक्ष्मी जी की मूर्ति के आगे रखे आपको कुछ ही दिनों में लाभ नजर आने लगेगा ।
अपनी तिजोरी में ११ गोमती चक्र सिंदूर लगाकर रख दे , तिजोरी आर्थिक रूप से उन्नत रहेगी |

व्यापार वृद्धि के लिए गोमती चक्र का उपयोग :

आपके व्यवसाय वाली जगह पर ११ गोमती चक्र लाल कपड़े में डालकर व्यवसाय वाली जगह पर चौखट पर लटका दे इससे व्यापार में वृधि होने लगेगी |

स्वास्थ्य लाभ के लिए उपयोग :

जो व्यक्ति रोगी है उसके ऊपर से सात गोमती चक्र तीन बार वार करके बहते पानी में बहा दे इससे रोगी के रोग धीरे धीरे दूर होने लगते है |

अटके धन को पाने के लिए गोमती चक्र की विधि :

जिस भी व्यक्ति ने आपके धन को रोक रखा है , आप उससे अपना धन पाने के लिए इस गोमती चक्र का प्रयोग करे |

आप पाँच गोमती चक्र ले और उस व्यक्ति का नाम लेकर माँ लक्ष्मी से विनती करे की वो आपका धन दिलवा दे | फिर इन पाँचो गोमती चक्रो को गिल्ली मिट्टी में दबा दे |

Spread the love

LEAVE A REPLY